शिशु स्वास्थ्य

शिशुओं में डिहाइड्रेशन (पानी की कमी) होने पर नजर आते हैं ये 5 लक्षण

शिशुओं को डिहाइड्रेशन (पानी की कमी) का सामना करना सामान्य है, और यह एक साधारण स्थिति है जो उनके शरीर में पानी की कमी के कारण होती है। यह अवस्था बच्चों को बहुत असहज महसूस कराती है और उनके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती है। इसलिए, शिशुओं में डिहाइड्रेशन के लक्षणों को पहचानना और उपचार करना महत्वपूर्ण है।

1. सूखी और छालेदार त्वचा

शिशुओं में डिहाइड्रेशन
सूखी और छालेदार त्वचा

डिहाइड्रेशन के एक प्रमुख लक्षण है सूखी और छालेदार त्वचा। जब शिशु के शरीर में पानी की कमी होती है, तो उनकी त्वचा सूखी और बेजान दिखाई देती है। इसके साथ ही त्वचा पर छाले या खुरदुरापन भी हो सकते हैं।

2. कम मूत्र

डिहाइड्रेशन के दूसरे लक्षण है कम मूत्र करना। जब शिशु के शरीर में पानी की कमी होती है, तो उनके मूत्र में कमी होती है। शिशु के मूत्र की मात्रा कम हो जाती है और यह एक अंगूठे के बाराबर या उससे कम हो सकती है।

3. थकान

डिहाइड्रेशन के तीसरे लक्षण में थकान की अनुभूति होती है। जब शिशु के शरीर में पानी की कमी होती है, तो वे थक जाते हैं और अपार थकान महसूस करते हैं। यह थकान शिशु की सामान्य गतिविधियों को प्रभावित कर सकती है और उन्हें कमजोर बना सकती है।

4. अवसाद या चिड़चिड़ापन

डिहाइड्रेशन के चौथे लक्षण में शिशु में अवसाद या चिड़चिड़ापन की अनुभूति होती है। जब शिशु के शरीर में पानी की कमी होती है, तो वे उदास और चिढ़चिढ़े हो सकते हैं। यह लक्षण शिशु के मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है और उन्हें असहज महसूस कराता है।

5. मुंह सूखा होना

डिहाइड्रेशन के पांचवें लक्षण में शिशु का मुंह सूखा होना है। जब शिशु के शरीर में पानी की कमी होती है, तो उनके मुंह में भी सूखापन की अनुभूति होती है। इसके कारण वे अपारेशन करने में असहजता महसूस करते हैं और भोजन करने में असहजता हो सकती है।

डिहाइड्रेशन एक गंभीर स्थिति हो सकती है और इसे तुरंत उपचार किया जाना चाहिए। यदि आपके शिशु में डिहाइड्रेशन के लक्षण दिखाई देते हैं, तो आपको तुरंत एक चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए। चिकित्सक आपके शिशु की स्थिति का मूल्यांकन करेंगे और उचित उपचार का सुझाव देंगे।

डिहाइड्रेशन को रोकने के लिए, आपको अपने शिशु को पर्याप्त पानी पिलाना चाहिए। शिशु को समय-समय पर दूध पिलाना और अतिरिक्त पानी भी प्रदान करना चाहिए। यदि आपके शिशु को डिहाइड्रेशन की समस्या होती है, तो चिकित्सक के साथ इस बारे में चर्चा करें और आपको उचित दिशा-निर्देश देने के लिए उनके सुझावों का पालन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten + 5 =