दांतों का पीलापन
All Post - Daily Wellness - General Health

दांतों का पीलापन दूर करने में अदरक और नींबू का रस किस तरह उपयोगी है

दांतों का पीलापन होने का कारण

दांतों का पीलापन

दांतों का पीलापन आम स्वास्थ्य समस्याओं में से एक है जो अनेक कारणों से हो सकता है। धूम्रपान, बुरी आदतें, अच्छे से सफाई न करना, आदि इस समस्या का कारण बन सकते हैं। यह न केवल दिखाई देने में अस्वास्थ्यकर होता है, बल्कि यह व्यक्ति की आत्मविश्वास और मुख स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकता है। इस लेख में, हमने विभिन्न घरेलू नुस्खों का सुझाव दिया है जो दांतों के पीलापन को कम करने में मदद कर सकते हैं।

1.धूम्रपान (Smoking): तंबाकू का सेवन करने से दांतों का पीलापन हो सकता है, क्योंकि धूम्रपान में मौजूद निकोटीन और अन्य कई रासायनिक तत्व दांतों को यहाँ तक की मसूढ़ों को भी प्रभावित कर सकते हैं। धूम्रपान के कारण दांतों पर पिगमेंटेशन हो सकती है और धूम्रपान के साथी रासायनिक पदार्थ दांतों की सतह पर जमा होकर उन्हें पीला बना सकते हैं।

2.दांतों की सफाई की कमी: सही तरीके से दांतों की सफाई न करने से भी पीलापन की समस्या हो सकती है। अगर आप नियमित रूप से दांतों को ब्रश नहीं करते हैं, तो खाद्य पदार्थों की अवशोषण और प्लाक जमा हो सकती है, जिससे दांतों का पीलापन बढ़ सकता है।

3.अत्यधिक चाय, कॉफ़ी, या कोला पीना: अधिक मात्रा में चाय, कॉफ़ी, या कोला पीने से दांतों पर पिगमेंट्स जमा हो सकते हैं, जिससे दांत पीले दिख सकते हैं। इन पेयों में मौजूद तेजीदार रंगीन पदार्थ दांतों की सतह पर असर डाल सकते हैं और यह समस्या बढ़ा सकती है।

4.दांतों की विकृतियाँ या कीड़े: दांतों की किसी विकृति या कीड़े के कारण भी दांत पीले हो सकते हैं। दांतों की विकृतियों में समस्याएँ या कीड़ों का प्रकोप दांतों की सफाई को बाधित कर सकता है, जिससे पीलापन बढ़ सकता है।

5.बीमारियाँ या औषधियाँ: कई बार किसी बीमारी या औषधि के सेवन के कारण भी दांत पीले हो सकते हैं। विभिन्न औषधियों का उपयोग करना, विशेषकर अंटीबायोटिक्स का अधिक इस्तेमाल करना, दांतों को पीला बना सकता है।

इन सभी कारणों से दांतों का पीलापन हो सकता है, जिससे व्यक्ति की मुख स्वास्थ्य और खौलता हो सकता है। इस समस्या को नजरअंदाज करना सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है, और यह दांतों की सफाई और आदतों में सुधार के माध्यम से नियंत्रित किया जा सकता है।

दांतों की सही सफ़ाई और देखभाल कैसे करे 

दांतों का सही सफ़ाई और देखभाल इस समस्या को रोकने में सबसे महत्वपूर्ण हैं। यह निम्नलिखित उपायों को अपनाकर दांतों की सफाई में सुधार किया जा सकता है

  • नियमित ब्रशिंग: सुबह और रात में दांतों को नियमित रूप से ब्रश करना महत्वपूर्ण है। इससे प्लाक और खाद्य पदार्थों को हटाया जा सकता है जो दांतों की सतह पर जमा होते हैं।
  • फ्लॉसिंग का उपयोग: दांतों के बीच में जमे हुए खाद्य पदार्थों को हटाने के लिए फ्लॉस का उपयोग करना अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह दांतों की सीधी दिशा में जाकर साफ़ी करने में मदद करता है।
  • रेगुलर डेंटल चेकअप: नियमित रूप से दंतचिकित्सक की सलाह लेना और डेंटल चेकअप करवाना बहुत महत्वपूर्ण है। डेंटिस्ट द्वारा की जाने वाली सजगता से दांतों की समस्याओं का समय पर पता चल सकता है और उपचार किया जा सकता है।
  • अच्छी आहारशैली: स्वस्थ आहार और प्रतिदिन की सही संगत आदतें दांतों की सेहत के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। अधिकतम शर्करा और तली हुई चीजों की कमी रखने से दांतों का पीलापन कम हो सकता है।
  • अपनी आदतों को सुधारें: धूम्रपान और तम्बाकू की सामान्य अच्छी आदतें बनाए रखना भी दांतों के पीलापन को रोकने में मदद कर सकता है।

दांतों का पीलापन दूर करने के घरेलू नुस्खे

1.दांतों का पीलापन दूर करने में सोडा बायकार्बनेट (Baking Soda) और नमक (Salt) किस तरह उपयोगी है :

दांतों का पीलापन
सोडा बायकार्बनेट

सोडा बायकार्बनेट और नमक का मिश्रण एक उपयुक्त होमरेमेड टूथपेस्ट की भूमिका निभा सकता है। इसे साधारित टूथब्रश के साथ मिलाकर दांतों पर मलने से पीलापन कम हो सकता है। सोडा बायकार्बनेट के एंटीबैक्टीरियल गुण मुख स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं और नमक का आंतिसेप्टिक प्रभाव भी हो सकता है। इस तरह, यह मिश्रण दांतों की सफाई को बढ़ावा देता है और पीलापन को कम करने में सहायक हो सकता है।

2.नारियल का तेल (Coconut Oil Pulling)दांतों का पीलापन दूर करने में किस तरह मदद करता है:

दांतों का पीलापन
नारियल का तेल

नारियल का तेल पुलिंग एक प्राचीन आयुर्वेदिक तकनीक है जो दांतों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है। इसे मुख में रखकर और फिर गरारा करके मुख के कीटाणुओं को मार सकते हैं और दांतों के पीलापन को कम कर सकते हैं। नारियल के तेल के एंटीबैक्टीरियल गुण और इसकी रेजनियोलिक एसिड की मौजूदगी दांतों को स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकती है।

3.अदरक और नींबू का रस (Ginger and Lemon Juice):

अदरक और नींबू का रस
अदरक और नींबू का रस

अदरक और नींबू का रस मिलाकर बनी मिश्रण को दांतों पर लगाने से दांतों का पीलापन कम हो सकता है। अदरक के एंटीऑक्सीडेंट गुण और नींबू का विटामिन सी दांतों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। इस मिश्रण का रेजनियोलिक एसिड और सिट्रिक एसिड भी हो सकता है, जिससे दांतों की सफाई होती है और मुख स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है।

4.तुलसी के पत्ते (Basil Leaves):

तुलसी के पत्ते
तुलसी के पत्ते

तुलसी के पत्ते को पीसकर दांतों पर लगाने से दांतों की सफाई होती है और दांतों के पीलापन को कम करने में मदद कर सकता है। तुलसी के एंटीबैक्टीरियल गुण दांतों को स्वस्थ रखने में सहायक हो सकते हैं और इसकी तेज परफ्यूम मुख स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकती है।

5.नीम का तेल (Neem Oil):

नीम का तेल
नीम का तेल

नीम के तेल को दांतों पर लगाने से बैक्टीरिया और रोगी विरोधी गुण मदद कर सकते हैं, जिससे दांतों के पीलापन कम हो सकता है। नीम का तेल एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुणों से भरपूर होता है, जो मुख स्वास्थ्य को सुरक्षित रखने में मदद करता है। इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी हो सकते हैं जो मुख की सूजन और दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं।

6.नीबू और नमक (Lemon and Salt):

नीबू और नमक (Lemon and Salt)
नीबू और नमक

नीबू और नमक का मिश्रण एक और प्रभावी घरेलू उपाय हो सकता है जो दांतों के पीलापन को कम करने में मदद करता है। नीबू में विटामिन सी के साथ-साथ एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो दांतों को स्वस्थ रखने में सहायक हो सकते हैं, जबकि नमक बैक्टीरिया को मारने में मदद कर सकता है।

7.हल्दी और नमक (Turmeric and Salt):

हल्दी और नमक
हल्दी और नमक

हल्दी में एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो मुख स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं। हल्दी को नमक के साथ मिलाकर दांतों पर लगाने से दांतों के पीलेपन को कम सकता है और मुख की बदबू को भी दूर कर सकता है।

8.बैकिंग सोडा, नीम पत्तियां और नीबू (Baking Soda, Neem Leaves, and Lemon):

दांतों का पीलापन
बैकिंग सोडा, नीम पत्तियां और नीबू

बैकिंग सोडा, नीम की पत्तियां, और नीबू का रस मिलाकर एक पेस्ट बनाएं। इसे दांतों पर लगाने से दांतों की सफाई होती है और पीलापन को कम करने में मदद कर सकता है। नीम की पत्तियों का एंटीबैक्टीरियल और नीबू का एंटीऑक्सीडेंट गुण मिलकर दांतों को स्वस्थ रख सकते हैं।

9.दालचीनी और शहद (Cinnamon and Honey):

दांतों का पीलापन
दालचीनी और शहद

दालचीनी में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो दांतों की सफाई को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं। शहद का एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल प्रभाव भी हो सकता है और इसे मिलाकर दांतों पर लगाने से पीलेपन को कम किया जा सकता है।

10.कार्बन कोटिंग (Activated Charcoal):

कार्बन कोटिंग का उपयोग करके दांतों की सफाई किए जा सकते हैं और यह पीलापन को कम करने में मदद कर सकता है। कार्बन कोटिंग दांतों से दूरी ताकतवरी से सफाई करने का एक प्रभावी तरीका है जो दांतों को सफेद और चमकीला बना सकता है।

If you have any queries related to medical health, consult Subhash Goyal or his team members on this given no +91 99150 72372, +91 99150 99575, +918283060000

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

12 − nine =